थोड़ी सी मलाई में एक चुटकी बेसन व हल्दी मिलाकर इस लेप को चेहरे पर लगाएं। सूखने पर उतार दें और फिर ठंडे पानी से मुंह धो लें। ऐसा करने से चेहरा दमक उठेगा।
एक चम्मच जौ के आटे में जरा सी हल्दी व 5-6 बूंद नारियल का तेल मिला लें। आवश्यकतानुसार जरा सा पानी मिलाकर लेप तैयार कर लें। इसे 10-15 मिनट तक चेहरे पर लगाएं फिर बाद में चेहरा धों ले। इस लेप से त्वचा की शुष्कता दूर हो जाएगी। एक बड़े चम्मच दही में 2 बूंद नारियल का तेल और चुटकी भर हल्दी मिला लें। इस लेप को चेहरे पर लगा लें। जब लेप सूख जाए तब उसे रगड़कर छुड़ा दें। और चेहरे को धो लें। ऐसा करने से त्वचा स्निग्ध होगी।
एक चुटकी हल्दी, थोड़ा दूध, नींबू की चार बूंद रस मिलाकर पेस्ट बना लें। इसे चेहरे पर आधे घंटे तक लगाकर चेहरा पानी से धों दें। इससे काले धब्बे धीरे-धीरे ठीक हो जाएंगे।
मैदे को दूध में मिलाकर पेस्ट तैयार कर लें। इसे चेहरे पर मलें। सूख जाने पर इसे उतार दें और चेहरा धों लें। इस से त्वचा मुलायम बनी रहेगी।
आॅयली स्किन वालों के लिए सर्दियों का मौसम सबसे बेहतर होता है, लेकिन देखभाल की जरूरत इन्हें इस मौसम में भी होती है। आॅयली स्किन वालों को हमेशा ग्लिसरिन और स्ट्राॅबरी युक्त फेस वाॅश का ही इस्तेमाल करना चाहिए मायश्चराइजर का इस्तेमाल करते समय इतना ध्यान जरूर रखें कि आपका मायश्चराइजर आॅयल फ्री हो। ड्राई स्किन वालों को सबसे देखभाल और केयर की जरूरत है। इनको अतिरिक्त माॅयश्चराइजर का प्रयोग करना चाहिए। जब भ्ज्ञी धूप में बाहर निकलें तो सूरज की किरणों से त्वचा को बचाए रखने के लिए सनस्क्रीन जरूर लगाएं। रात को सोने से पहले जैतून और बादाम का तेल लगाएं। इससे त्वचा का रूखापन दूर हो जाएगा। नाॅर्मल स्किन वाली महिलाओं को सर्दियों में त्वचा की देखरेख के लिए काफी सावधानी बरतनी चाहिए। इन्हें सर्दियों में हमेशा क्रीम लगानी चाहिए। इससे आपकी त्वचा को जरूरी पोषण मिल जाएगा। रात में सोने से पहले दूध में थोड़ा नमक मिलाकर रूई के फाहे से चेहरे पर लेप करने से रंग में निखार आता है। और त्वचा मुलयम भी बनी रहती है। रात में जो भी लेप किया है उसे सुबह उठकर धो देना चाहिए।
सर्दियों में धूप से बचाव के लिए एसपीएफ 15 युक्त मायश्चराइजर का प्रयोग करें। यदि बाहर जा रहे हो तो हाई एसपीएफ सनस्क्रीन लगाएं क्योंकि सनबर्न सर्दियों में भी हो सकता है।

सुंदर आंखें इंसान की सुंदरता में चार चाँद लगाती हैं क्योंकि इन्हीं अनमोल आँखों से कुदरत के खूबसूरत नजारों को देख सकते हैं इसलिए जरूरी है आँखों को बीमारियों से बचाना जरूरी है। आँखों को बीमारियों से बचाने के लिए आँखों की सफाई और आँखों का व्यायाम करना जरूरी है। आँखों की देखभाल के लिए विटामिन-ए युक्त भोजन करना चाहिए। आँखों की देखभाल के लिए ताजे गुलाब की पंखुडि़यों को लेकर उनका रस निकाल कर अपनी बंद आँखों पर लगाएं। और आँखों पर 20 मिनट तक रखें। यह आपकी आँखों की सूजन हटाने का तरीका है। जिन लोगों की उम्र थोड़ी ज्यादा हो गयी है उनकी आँखों के आसपास झुर्रियां पड़ना आम बात है पर सही देखभाल से इस समस्या का भी इलाज हो सकता है। 3 चम्मच कच्चा दूध और 3 चम्मच शहद। इन दोनों पदार्थों को अच्छे से मिलाएं और आंच पर कुछ देर गर्म कर लें और इसे 30 मिनट तक रखें। समय पूरा हो जाने पर गर्म पानी से धो दें। यह काफी असरदार प्राकृतिक नुस्खा है जिसकी मदद से आँखों के पास की झुर्रियां बिल्कुल गायब हो जाती हैं। इसके अलावा पालक खाएं और खूब पानी पियें। आलू या खीरे के टुकड़े लें और इसे आँखों के नीचे रखें। इससे काले घेरों, झुर्रियां तथा त्वचा की महीन रेखाओं से छुटकारा मिलेगा।

नियमित रूप से करें आँखों की सफाई

आँखों के प्रति लापरवाही बरतने से आँखों मे पानी आना, जलन, खुजली, आँखों का लाल होना, पीलापन आना, सूजना, धुंधला दिखने जैसी समस्याएं हो सकती हैं। इन समस्याओं से आँखों को बचाने के लिए नियमित रूप से आँखों की सफाई करनी चाहिए। इसके लिए दिन में ठंडे पानी से आँखों को अच्छी तरह से धोएं। आँखों को बीमारी से बचाने के लिए विटामिन-ए- लेना चाहिए साथ ही दूध, मक्खन, गाजर, टमाटर, पपीता, अंडे, शुद्ध घल और हरी साग-सब्जियों इत्यादि का सेवना करना चाहिए। भरपूर नींद लें तथा कंप्यूटर से उचित दूर बनाकर काम करें।