सही हेयर कट आपकी पर्सनैलिटी को दे स्टाइलिश लुक

स्टाइलिश अंदाज – रोज़-रोज़ नया हेयर स्टाइल बनाना शायद मुश्किल लगे पर सही हेयर कट को चुनकर आप अपनी पर्सनैलिटी को डिफरेंट लुक दे सकते हैं। अगर आप वर्किंग हैं तो आपको ऐसा हेयर कट करवाना चाहिए, जिसकी देखभाल आप खुद कर सकें। मसलन अगर लंबे बालों के साथ आप कई लेयर कट रखना चाहती हैं तो आपके लिए हर समय बाल खुले रख पाना संभव नहीं है। ऐसे में आपको फ्रंट कट और स्ट्रेट बाल रखने चाहिए, जिन्हें आप ज़रूरत पडऩे पर बांध भी सकें। चेहरा अगर हार्ट शेप का है तो इस पर फ्रेमिंग लेयर्स हेयर कट खूब फबेगा। ऐसे चेहरे पर फोरहेड और चीक्स काफी ब्रॉड होता है। ऐसे में बालों की कुछ लेयर्स चीक्स पर आएंगी तो चेहरे को छोटा दिखाया जा सकता है। बाल लंबे हैं तो लेयर्ड वेव्स करवाएं, वहीं छोटे बालों के लिए बाउंसी बॉब कट फबेगा। ओवल फेसकट के लिए आप शॉर्ट या लॉन्ग लेंथ दोनों ही रख सकती हैं। वर्किंग हैं तो ब्लंट कट कराने के बजाय लेयर या थ्री लेयर कराएं। बाल अगर हलके हैं तो ब्लंट कट करवाने से बचना चाहिए। राउंड फेस पर थ्री स्टेप कटिंग ही करवाएं। इसकी लेयर्स की लेंथ चिन तक ही करवाएं। फ्रंट से छोटा न करवाएं।
साइड लेयर कट – किसी भी प्रकार के बालों और फेसकट के लिए यह साइड लेयर कट अच्छा लगता है। कर्ली और वेवी बालों पर भी यह स्टाइल जचता है। इसके लिए बालों को वेट ड्रायर से सेट करें। ध्यान रखें, बालों को उसी ओर सेट करें, जो आप पर सूट करता हो। साइड लेयरिंग फेस को यंग लुक देने के साथ ही मॉडर्न भी बनाती है। बालों पर कलर हो तो लेयरिंग स्टाइल काफी स्टाइलिश लुक देगी। बालों की पोनी बनाकर क्लिप से इनको एक अलग अंदाज़ दिया जा सकता है।
शैग कट – बालों को शॉर्ट के साथ हेवी दिखाना चाहते हैं तो शैग हेयर कट करवाएं। इनमें कुछ बाल फोरहेड पर आते हैं, जिससे बालों को वॉल्यूम मिलता है। अगर बाल हलके हों तो इस कट को आज़माकर देखें।

जब आने वाला हो नन्हा मेहमान

प्रेग्नेंसी का पता चलने के बाद अक्सर महिलाएं कुछ बातों की कम जानकारी होने की वजह से ऐसे कदम उठा लेती हैं, जो आगे चलकर डिलिवरी के दौरान मुश्किल पैदा कर सकते हैं। कुछ एहतियात बरतकर इन कठिनाइयों से बचा जा सकता है। प्रेग्नेंसी एक ऐसा वक्त होता है, जो हर महिला के लिए बहुत खुशियां लेकर आता है, लेकिन स्वास्थ्य के लिए यह थोड़ा क्रिटिकल टाइम होता है। अब आप पर एक और जान की जिम्मेदारी बढ़ जाती है। ऐसे में कुछ बातों का खास ध्यान रखकर इस दौरान आने वाली परेशानियों से बचा जा सकता है।
एकदम न बढ़ाएं डाइटः- अक्सर प्रेग्नेंसी की खबर मिलते ही घरवाले महिला की अधिक केयर करने लगते हैं। ऐसा करना ठीक है, लेकिन कुछ बातों को ध्यान रखने की जरूरत होती है। प्रेग्नेंसी के शुरुआती तीन महीनों में महिलाओं को जी-मचलाना, उल्टी, बदहजमी और गैस जैसी शिकायतें आम होती हैं। इसलिए इन महीनों के दौरान खाने की मात्रा को बढ़ाने की जरूरत नहीं होती। इसके स्थान पर डाइट में प्रोटीन, विटामिन और मिनरल वाले हल्के खाने को शामिल करना चाहिए।
नाश्ते को न करें दरकिनारः- प्रेग्नेंसी के शुरुआती दौर में अक्सर महिलाएं ऑफिस या घर के कामकाज में सामान्य तौर पर लगी रहती हैं। इसमें कोई बुराई नहीं है, लेकिन प्रेग्नेंसी का पता चलने के बाद नाश्ते को बिल्कुल अवॉइड नहीं करना चाहिए। पोषक तत्वों से भरपूर नाश्ता लेने के बाद यदि महिलाओं को दिन के आहार में थोड़ा कम पोषण मिले, तो यह होने वाले बच्चे की सेहत पर ज्यादा असर नहीं डालता। इसके साथ ही सुबह के समय थोड़ा-बहुत खाने से दिनभर गैस और एसिडिटी की परेशानी का सामना नहीं करना पड़ता।
लालच पर नियंत्रण रखेंः- महिलाओं में चटपटा खाने की आदत पुरुषों के मुकाबले ज्यादा होती है। यह आदत प्रेग्नेंसी के दौरान और अधिक बढ़ जाती है। ऐसे में महिलाएं चुपचाप चाट, पानीपुरी, भेल जैसी चीजें खाने की कोशिश करती हैं। ये चीजें आने वाले नन्हे मेहमान की सेहत पर बुरा असर डाल सकती हैं। प्रेग्नेंसी के दौरान ज्यादा मसालेदार और चटपटी चीजों का सेवन करने से महिलाओं को कई तरह की परेशानी हो सकती है।
कभी न भूलें एक्सरसाइज करनाः- प्रेग्नेंट महिलाओं को अपने खानपान के साथ ही फिजिकल फिटनेस की तरफ भी विशेष ध्यान देना चाहिए। एक बार प्रेग्नेंसी का पता चल जाने के बाद नियमित एक्सरसाइज करना बहुत जरूरी होता है। इससे बॉडी आने वाले मेहमान को संभालने के लिए तैयार हो जाती है। एक्सरसाइज के साथ हल्का योग और प्राणायाम भी लाभकारी होगा। दिन में कम से कम आधा घंटा एक्सरसाइज जरूर करनी चाहिए।

लड़कियों को पसंद आते है दाढ़ी वाले लोग

आप यह जानकर हैरान रह जाएंगे कि ज्यादातर लड़कियों को दाड़ी वाले पुरुष ही आकर्षित करते हैं। यह तो सही है कि दाड़ी को रखना अपने आपमें मेहनत का काम है, क्योंकि इसकी देखभाल और साफ-सफाई में बहुत समय देना होता है। अब सोचने वाली बात है कि आलसी कहे जाने वाले पुरुष भी दाड़ी कैसे रख लेते हैं और ऐसा शौक क्यों पालते हैं। दरअसल हाल में हुआ एक रिसर्च के परिणाम बताते हैं कि बड़ी हुई दाढ़ी वाले पुरुष लड़कियों को खूब भाते हैं। रिसर्च बताता है कि अधिकांश लड़कियां जीवनसाथी के तौर पर बड़ी दाढ़ी वाले पुरुषों को ही पसंद करती हैं। ऐसा इसलिए है क्योंकि चेहरा रौबदार और सीधे निर्णय लेने की स्थिति वाला प्रतीत होता है। इसलिए सलाह देने वाले तो यहां तक कहते हैं कि यदि आप लड़कियों से अपना संबंध लंबे समय तक रखना चाहते हैं तो दाढ़ी बढ़ा लिजिए, आपकी मुराद पूरी हो जाएगी। यह दावा रिसर्च करने वाले वैज्ञानिकों ने किया है। इसलिए इसमें गंभीरता नजर आती है। वैज्ञानिकों की मानें तो महिलाएं जीवन भर साथ निभाने के लिए ही दाढ़ी वाले पुरुषों को चुनती हैं। क्या आप भी ऐसा ही सोचती हैं, अगर हां तो जानना जरुरी है कि आखिर ये मर्द दाढ़ी क्यों रखते हैं। ऐसा तो नहीं कि रोज-रोज दाढ़ी साफ करने की झंझट से बचने के कारण उन्होंने दाढ़ी बढ़ा ली हो। अतः ऐसा करने वाले पुरुष आपकी सोच पर खरे नहीं उतर सकते हैं। जबकि शोध बताता है कि पुरुषत्व और दाढ़ी के बीच में गहरा संबंध है। इस अध्ययन में बताया गया है कि रिलेशनशिप के लिहाज से देखा जाए तो काफी ज्यादा मैस्क्युलिन और काफी ज्यादा फेमेनाइन दिखने वाले पुरुष कम आकर्षक होते हैं। बताते चलें कि महिलाओं को बड़ी दाढ़ी वाले पुरुष क्लीन सेव पुरुषों की तुलना में ज्यादा स्ट्रॉन्ग लगते हैं। उन्हें दाढ़ी वाले पुरुष मैच्योर लगते हैं। दाढ़ी से किशोरवय और पुरुषों में अंतर पता चल जाता है। कुछ महिलाएं तो यहां तक कहती हैं कि दाढ़ी में पुरुष ज्यादा सेक्सी और हॉट लगते हैं। अब यदि आप दाढ़ी वाले पुरुष में ये सब पाती हैं तो यह शोध को प्रमाणित करने जैसा होगा, वर्ना अपनी-अपनी सोच वाली बात ही चरितार्थ होती है।

पांच मिनट में संवारे कर्ली हेयर

कर्ली हेयर एक ऐसा हेयरस्टाइल है जो कभी भी फैशन से बाहर नहीं होता है। कुछ के बाल तो प्राकृतिक रूप से कर्ली होते हैं, वहीं कुछ लोग ऐसे बाल पाने के लिए खासतौर पर प्रयास करते हैं। जो भी हो, पर आपको कर्ली हेयर की देखभाल के बारे में पता होना चाहिए। सीधे बाल के उलट कर्ली हेयर को शानदार दिखाने के लिए कुछ अतिरिक्त प्रयास करने होते हैं। अगर आप अपने कर्ली हेयर पर इतराते हैं तो निश्चित रूप से आप इसकी देखभाल के तरीके जानना चाहेंगे। आप यह जान लीजिए के कर्ली हेयर का रखरखाव सीधे बालों जितना आसान नहीं है। हालांकि ऐसे कई टिप्स हैं जिसे अपना कर आप न सिर्फ कर्ली हेयर का अच्छे से रखरखाव कर सकते हैं बल्कि इसे और बेहतर भी बना सकते हैं। तो आइए जानते हैं कुछ टिप्स जिनकी सहायता से आप अपने कर्ली हेयर को एक नयी स्टाइल प्रदान कर सकते हैं।
तेल लगानाः- कर्ली हेयर को ज्यादा तेल लगाने की जरूरत होती है, क्योंकि सीधे बालों की तुलना में इसमें रूखापन ज्यादा होता है। ऐसा इसलिए है कि बाल मुड़े होने से स्किन आयल बालों के सिरे तक नहीं पहुंचता है। रूखा बाल ज्यादा कमजोर होता है और ज्यादा टूटता है। आप जैतून का तेल, नारियल का तेल, बादाम का तेल और दूसरे नेचुरल हेयर आयल का इस्तेमाल कर सकते हैं।
हेयर पैकः- कर्ली हेयर की देखभाल में कई तरह के हेयर पैक भी आपकी मदद कर सकते हैं। मेयोनेज, अंडा, दूध, दही, शहद और नींबू कुछ ऐसे हेयर पैक हैं जो असरदार होने के साथ साथ प्राकृतिक भी हैं।
शैंपू करनाः- बालों में शैंपू करें, क्योंकि बाल में कई सारे ट्विस्ट और टर्न होने से बालों के छल्ले में गंदगी की संभावना काफी बढ़ जाती है। इससे बाल भद्दे भी नजर आने लगते हैं। आपने बालों को साफ करने के लिए आप नेचुरल मेथड भी अपना सकते हैं।
कंडीशनिंगः- कर्ली हेयर की देखभाल में कंडीशनिंग बेहद जरूरी है। आप चाहें तो कंडीशनर बाजार से खरीद सकते हैं या फिर इसे घर पर बना सकते हैं। शहद, अंडा, सेब, सिरका और चाय कुछ बेहतरीन प्राकृतिक कंडीशनर हैं।
कंघी करनाः- कर्ली बालों के लिए कंघी का चुनाव करते समय सावधानी बरतें। चौड़े दांत वाली कंघी का चुनाव करें क्योंकि यह आपके बालों के छल्ले में फंसेगी नहीं। पतले दांत वाली कंघी कर्ली हेयर पर आसानी से नहीं चलेगी। साथ ही इससे बालों को नुकसान भी पहुंचेगा।