बदलते वक्त की पहचान हेयर कलरिंग

बदलते वक्त की पहचान हेयर कलरिंग

यदि आप पाना चाहती हैं आकर्षक व स्टाइलिश लुक तो हेयर कलरिंग बेहद आसान व प्रभावी तरीका है अपनी पर्सनैलिटी में चार चांद लगाने का। आप चाहे तो अच्छे सैलून में जाकर हेयर कलर करवा सकती हैं पर यदि आप घर में हेयर कलर कर रही हैं।

मार्केट में दो तरह के हेयर कलर एवेलेबल है बेसिक कलर, जो बढ़ती उम्र के साथ सफेद होते बालों को रंगीन बनाने के लिए किये जाते हैं। इन्हें हर 15 से 20 दिन बाद दोबारा एप्लाई करने की जरूरत होती हैं। बेसिक कलर में खास शेड हैं ब्लैक, ग्रै, बरगंडी व ब्राउन। दूसरे कलर हैं हाइलाइटिंग कलर, जिन्हें काले व सिम्पल बालों को हाईलाइट करने के लिए किया जाता है। युवाओं में आजकल इनका खासा क्रेज देखा जाता है। इनमें बरगंडी, गोल्डेन, ब्राउन, काॅपर, रेड, ग्रीन, चाॅकलेटी, स्लेटी व गोल्डेन बाउन खास है।

हाईलाइट कलर को आप अपनी सुविधानुसार किसी भी ट्रेंड में चुन सकती हैं

टेम्परेरी कलर- शैम्पू करने के बाद ये शैम्पू के साथ ही धुल जाते है और आपके बाल वापिस अपने ओरिजनल कलर में आ जाते हैं। यदि आप सिर्फ किसी फंक्शन में जाने के लिए लुक चेंज करना चाहती हैं तो टेम्परेरी ककलर एक अच्छा ऑप्शन है।

सेमी टेम्परेरी कलर- अगर आप कुछ ही दिनों के लिए कलर्ड हेयर चाहती हैं तो इसे चुन सकती हैं। इनके असर की अवधि 5-6 शैम्पू करने तक रहती हैं।

सेमी परमानेन्ट कलर- यदि आप बदलते ट्रेंड व फैशन के अनुसार बालों का कलर भी बदलती रहना चाहती हैं तो सेमी परमानेन्ट कलर चुन सकती हैं। ये कलर लगाने के 5 से 6 हफ्तों तक रहते हैं।

परमानेन्ट कलर- परमानेन्ट कलर आपको बालों के ओरिजनल कलर को पूरी तरह नए कलर में बदल देता हैं। हां आपको बालों की जो नई ग्रोथ होगी वह आपके बालों के ओरिजनल रंग में बढ़ेगी। यह कलर मार्केट में कई शेड में उपलब्ध हैं। परमानेन्ट की सलाह अवश्य लें। यह कलर मार्केट में क्रीमी, जेल व शैम्पू फाॅर्म में भी एवेलेबल हैं।

हेयर कला का सेलेक्शन

1  बालों को कलर करने के लिए सबसे पहले जरूरी है, आपके चेहरे के रंग-रूप उम्र व पर्सनैलिटी के आधार पर कलर का सेलेक्शन ताकि आपका व्यक्तित्व और ज्यादा उभर कर सामने आ सके।

2  यदि आपका रंग गोरा है तो आप बरगंडी, ब्राउन, गोल्डन व ग्रीन कलर चुन सकती हैं।

3  हल्के सांवले रंग पर लाइट गोल्डेन ब्राउन, काॅपर, स्लेटी रंग अधिक फबते हैं।

4   गेहुंए रंग पर चाॅकलेटी, बरगंडी व खाकी रंग खिलते हैं।

5   अधिक उम्र में मेंहदी का अधिक प्रयोग बालों को रूखा बनाता है।

सफेद होते बालों को छिपाने के लिए आप काला, भूरा व ब्राउन हेयर कलर चुन सकती है। फैशन व बदलते ट्रेंड के अनुसार भी हेयर कलर चुन सकती हैं बशर्ते वह कलर आपकी पर्सनैलिटी से मैच करता हो। पिछले दिनों ग्रीन कलर अधिक पसंदद किया जा रहा था, आजकल गोल्डेन ब्राउन कलर चलन में हैं। बरगंडी कलर हर उम्र, रंग व मौसम में फबता हैं।

हेयर कलर करने से पहले

1  हेयर कलर करने से 48 घंटे पहले एलर्जी टेस्ट करें इसके लिए बालों के रूखे व बेजान हिस्से पर कलर लगाएं और आधे घंटे बाद गुनगुने पानी से धो लें। अगर 48 घंटे के अंदर त्वचा में जलन, खुजली आदि होती है या आपको लगे यह कलर आप पर सूट नहीं कर रहा तो हेयर स्पेशलिस्ट की सलाह से नया कलर व ब्रांड इस्तेमाल करें।

2 कलर चुनते समय अमोनिया फ्री कलर चुनें। ये बालों को रूखा बनाते हैं। तो हेयर कलर के दो पाउच खरीदें ताकि सारे बालों पर हेयर कलर अच्छी तरह लगा सकें।

3 हेयर कलर सीधे व सिल्की बालों पर ही अच्छे लगते है। अगर आपके बाल घुंघराले हैं तो आप उन्हें स्ट्रेट करवा कर हेयर कलर कर सकती है।

4 आप चाहे तो सारे बालों को हाईलाइट कर सकती है या सिर्फ आगे की कुछ लेयर। यदि कनफ्यूज है तो आप पेपर पर बालों का स्केच बनाकर, जिस पैटर्न में आप बाल हाइलाइट करना चाहती हैं, ड्रा करें। यदि पैटर्न पसंद आता है तो उसे अप्लाई कर सकती हैं।

5 अब बालों को किसी अच्छे शैम्पू से धोएं। जिससे बालों में उपस्थित धूल-मिट्टी के कण बाहर निकल जाए।

हेयर कलर करने से पहले माथे के ऊपरी हिस्से व गर्दन के पिछले हिस्से पी क्रीमी जेल या वैसलीन लगा ले। इससे हेयर कलरिंग के दौरान त्वचा पर दाग पड़ने का डर नहीं रहेगा।

हेयर कलर

1 हेयर कलर को एक बाउल में अच्छी तरह मिक्स करें और घोलने के तुरंत बाद बालों पर लगाएं, कलर को अधिक देर तक रखना बालों को नुकसान पहुंचा सकता है।

2 हाथों में गलव्स पहनकर बालों को कलर करें। सबसे पहले बालों की जड़ों में कलर लगाएं फिर ब्रश की सहायता से सारे बालों में फैला दें।

3 45 मिनट बाद बालों को गुनगुने पानी से गीला करके 3 मिनट तक झाग बनाए फिर अच्छी तरह पानी से धो लें ताकि हेयर कलर कर कोई कण बालों में न रहे।

4 24 घंटे तक बालों में शैम्पू न करें। अन्यथा शैम्पू के साथ बालों में लगा कर भी बह जाएगा।

5 बाल धोने के बाद बालों में नींबू युक्त सोल्यूशन लगाएं अगर सिर की त्वचा पर कलर लगा गया होगा तो यह उसे हटाने में मदद करेगा।

6 यदि माथे की त्वचा पर कलर लग गया है तो गीले कपड़े को शैम्पू में भिगोकर दाग पर लगाएं, फिर साफ कपड़े से रगड़ कर पोंछ दें। दाग हट जाएगा।

7 बालों को हेयर ड्रायर से सुखाने की बजाए नैचुरल रूप से सुखने दें।

8 बालों को तौलिये में लपेट कर न रखें, न ही तौलिये से रगड़े या झाड़े, इससे बाल कमजोर होकर झड़ने लगते हैं।

कलर्ड बालों की देखभाल

1 कलर्ड बाल तभी खूबसूरत लगते हैं जब वे सिल्की, साॅफ्ट व मुलायम हों, रूखे-बेजान, बाल आपके सौन्दर्य को बढ़ाने की बजाय कम कर सकते हैं। इसलिए इन्हें जरूरत होती है विशेष देखभाल की। आइयेे देखें ये टिप्स-

2 कलर्ड बालों के लिए खास बनाए गए शैम्पू व कंडीशनर का इस्तेमाल करें।

3 बालों को हफ्ते में 2 बार डीप कंडीशनिंग दें। चाहे तो पार्लर में जाकर हेयर स्पा भी ले सकती है।

4 बालों को साॅफ्ट सिल्की बनाए रखने के लिए नैचुरल हेयर प्रोटीन व विटामिन-ई युक्त तेल से अच्छी तरह मालिश करें। आधे घंटे बाद शैम्पू से धोकर कंडीशनिंग करेंगे, हेयर कलर भी बालों पर अप्लाई होगा। 5 मिनट बाद धो दें।

5 कलर्ड बाल को सुखा छोड़ना या हाफ क्लच करना आकर्षक लगने के साथ-साथ सेक्स अपील भी बढ़ाता है। यदि आपके बाल ज्यादा लम्बे हैं तो सिर्फ आगे से लेजर कंटिग करवा कर कलर्ड हेयर को हाईलाइट कर सकती है।

6 यदि बाल ऑयली हैं तो फ्राइड फूड व फैट कम लें।

7 कंडीशनर हमेशा बालों के सिरे पर ही उपयोग करें। जड़ों पर कंडीशनर लगाना बालों को नुकसान पहुंचाना है।

8 बालों को हेयर ड्रायर से सुखाती हैं तो 8 इंच की दूरी बना कर रखें व बालों को ठंडा होने के बाद ही सेट करें, अन्यथा बाल रूखे हो सकते हैं।

9 बालों के लिए चैडे, दांतों वाले कंघे इस्तेमाल करें, प्लास्टिक के साधारण कंघे बालों को तोड़ते व रूखा बनाते हैं।

10 अगर अप स्वीमिंग करती हैं तो बालों को बचाकर रखें। स्वीमिंग पूल के पानी में क्लोरीन होती है जो बालों को नुकसान पहुंचा सकती हैं।

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *